बीसीसीआई, भारतीय क्रिकेट जर्सी स्पॉन्सरशिप विवाद पर बायजूज को एनसीएलटी में ले जाता है

NeelRatan

BCCI ने भारतीय क्रिकेट जर्सी स्पॉन्सरशिप विवाद पर BYJU’s को NCLT में ले जाया। यह विवाद भारतीय क्रिकेट को घेरने वाले महत्वपूर्ण मुद्दों में से एक है। इस विवाद के चलते बीसीसीआई ने अपने अधिकारों की रक्षा करने के लिए कठोर कदम उठाए हैं। इस खबर में आपको विस्तृत जानकारी मिलेगी जो आपको इस महत्वपूर्ण विवाद की समझ में मदद करेगी।



इस कंपनी ने पहले भारतीय क्रिकेट नियंत्रण मंडल (BCCI), अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) और फीफा के साथ महत्वपूर्ण ब्रांडिंग साझेदारियों को बनाए रखा था, जिनकी सभी अद्यतन की जांच 2023 में होने वाली थी। हालांकि, BYJU’S ने पुष्टि की है कि यह किसी भी साझेदारी को नवीनीकरण नहीं करेगा, जिससे मौजूदा कानूनी विवाद की प्रकृति अज्ञात रहती है।

इसी बीच, एक महत्वपूर्ण नेतृत्व परिवर्तन के बीच, थिंक एंड लर्न ने 27 नवंबर को जिनी थाटिल को नया मुख्य प्रौद्योगिकी अधिकारी (CTO) के रूप में नियुक्त किया, जो अनिल गोयल की जगह लेते हैं, जो तीन साल तक इस भूमिका में थे। पहले BYJU’S के वरिष्ठ उपाध्यक्ष (इंजीनियरिंग) थाटिल ने BYJU’S पारिस्थितिकीय मंच के भीतर विभिन्न सहायक कंपनियों के पोस्ट-अधिग्रहण एकीकरण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

यह रणनीतिक चल बायजू के संगठनात्मक पुनर्गठन के साथ मेल खाता है, जिसका उद्देश्य संचालनीय कुशलता को मजबूत करना है और वर्तमान प्रतिस्पर्धी शिक्षा प्रौद्योगिकी मंच में वर्तमान चुनौतियों का सामना करने के लिए अपनी नेतृत्व टीम को अनुकूलित करना है।

थाटिल की उन्नति बायजू के शीर्ष प्रबंधन में महत्वपूर्ण बदलाव की ओर इशारा करती है, जो कंपनी की तकनीकी नेतृत्व को मजबूत करने के लिए है, जबकि एक कार्पोरेट समायोजन और अनिश्चितताओं की अवधि में।


Leave a Comment