टेस्ट टीम में स्थान नहीं बना पाने वाले 6 भारतीय वाइट-बॉल महान खिलाड़ियों की कहानी – टाइम्स नाउ

NeelRatan

भारतीय व्हाइट-बॉल महानों में से 6 ऐसे खिलाड़ी जिन्होंने कभी टेस्ट टीम में अपनी जगह नहीं बना सकी। इन खिलाड़ियों की कहानी जानने के लिए जानिए टाइम्स नाउ पर।



टेस्ट टीम में स्थान प्राप्त नहीं कर पाए 6 भारतीय व्हाइट-बॉल महान खिलाड़ी

भारतीय क्रिकेट टीम में खेलना हर क्रिकेटर का सपना होता है। टेस्ट मैचेज में खेलना क्रिकेटरों के लिए सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है। टेस्ट मैचेज में खेलने वाले खिलाड़ी अपनी क्षमता और दमदार प्रदर्शन के आधार पर मान्यता प्राप्त करते हैं। लेकिन कुछ ऐसे भारतीय खिलाड़ी भी हैं जो व्हाइट-बॉल मैचेज में तो शानदार प्रदर्शन करते थे, लेकिन उन्हें टेस्ट टीम में स्थान नहीं मिला। यहां हम आपको 6 ऐसे भारतीय व्हाइट-बॉल महान खिलाड़ियों के बारे में बता रहे हैं जिन्हें टेस्ट टीम में स्थान प्राप्त नहीं हुआ।

1. विनोद कम्बले: विनोद कम्बले भारतीय क्रिकेट के एक महान बल्लेबाज रहे हैं। उन्होंने व्हाइट-बॉल मैचों में बेहतरीन प्रदर्शन किए हैं, लेकिन उन्हें टेस्ट टीम में स्थान नहीं मिला।

2. अमित मिश्रा: अमित मिश्रा एक अच्छे स्पिनर रहे हैं। उन्होंने व्हाइट-बॉल मैचों में बहुत सारे विकेट लिए हैं, लेकिन उन्हें टेस्ट टीम में स्थान नहीं मिला।

3. गौतम गंभीर: गौतम गंभीर भारतीय क्रिकेट के एक अच्छे ओपनर रहे हैं। उन्होंने व्हाइट-बॉल मैचों में बहुत सारे रन बनाए हैं, लेकिन उन्हें टेस्ट टीम में स्थान नहीं मिला।

4. रोहित शर्मा: रोहित शर्मा भारतीय क्रिकेट के एक बेहतरीन बल्लेबाज रहे हैं। उन्होंने व्हाइट-बॉल मैचों में कई बड़े स्कोर बनाए हैं, लेकिन उन्हें टेस्ट टीम में स्थान नहीं मिला।

5. सुरेश रैना: सुरेश रैना भारतीय क्रिकेट के एक अच्छे मध्यक्रम बल्लेबाज रहे हैं। उन्होंने व्हाइट-बॉल मैचों में बहुत सारे रन बनाए हैं, लेकिन उन्हें टेस्ट टीम में स्थान नहीं मिला।

6. युवराज सिंह: युवराज सिंह भारतीय क्रिकेट के एक महान बल्लेबाज रहे हैं। उन्होंने व्हाइट-बॉल मैचों में बहुत सारे रन बनाए हैं, लेकिन उन्हें टेस्ट टीम में स्थान नहीं मिला।

ये थे कुछ ऐसे भारतीय व्हाइट-बॉल महान खिलाड़ियां जिन्हें टेस्ट टीम में स्थान प्राप्त नहीं हुआ। यह देखने के लिए दिल दुखता है कि इन खिलाड़ियों को टेस्ट मैचों में अवसर नहीं मिला। हालांकि, व्हाइट-बॉल मैचों में उनकी महानता और क्षमता को मान्यता मिली है और वे भारतीय क्रिकेट के इतिहास में महान खिलाड़ियों की गिनती में शामिल होते हैं।


Leave a Comment